Google के 12 रोचक फ़ैक्ट्स

गूगल की कहानी  बड़ी रोचक है , 1998 में दो छात्र, लैरी पेज और सर्जे ब्रिन तैयार करने वाले थे साझा इंटरनेट सर्च  प्रोग्राम, इस प्रक्रिया में  उन्होंने “गूगोल” नामक एक खोज इंजन बनाया, जो यूज़रस  को विस्तृत और सटीक जानकारी प्रदान कर सके , इस खोज इंजन की मदद से, वे लोगों को विश्व की सारी  जानकारी से जोड़ने का वादा कर रहे थे।धीरे-धीरे, गूगोल ने लोगों के बीच धड़ल्ले से लोकप्रियता प्राप्त की,उनकी शानदार यूज़र फ़्रेंड्ली  तकनीक  ने गूगोल को आगे बढ़ाने में मदद की और फिर 2004 में, गूगोल ने अपनी पहली उपभोक्ता साइट गूगल न्यूज़ को लॉन्च किया, जिसे आजकल “गूगल समाचार “के नाम से भी  जाना जाता है। यहां लोग विभिन्न शीर्षकों में खोज समाचार और खबरें पढ़ सकते हैं।

गूगोल की विश्वसनीयता और प्रभावशाली इंजन तकनीक ने इंटरनेट की दुनिया में एक नई क्रांति  ले आयी ,

गूगल का मुख्यालय सिलिकॉन वैली, कैलिफोर्निया में स्थित है, जहां एक विशाल टेक्नोलॉजी कैंपस स्थापित है।

गूगल की मज़ेदार  कहानी सिर्फ इतनी ही नहीं, बल्कि यह आधुनिक डिजिटल युग में सबको प्रेरित भी करती है, जिसने विश्व में खोजने और जानकारी को एक नया आयाम दिया है। आज हम लगभग हर छोटी सी छोटी जानकारी के लिए गूगल पर  निर्भर हैं , चाहे वो गूगल सर्च एंजिन हो या गूगल मैप ,गूगल वोइस जैसे कई फ़ीचर्ज़ ,

 गूगल  नए और सुगम तरीकों के माध्यम से उपयोगकर्ताओं के लिए, खोज परिणाम प्रदान करने के लिए बेहतरीन  एल्गोरिदम विकसित करता रहा है  और आने वाले समय में गूगल बार्ड (Google Bard) आर्टिफ़िशल इंटेलिजेन्स  जैसी तकनीक में पूर्ण रूप से शोध करने में जुटा हुआ है 

 

चलिए जानते है बीते वर्षों में गूगल ने अपने यूज़र्ज़ के लिए क्या विशेष उपलब्धियाँ की।

 

1.गूगल को 1998 में लैरी पेज और सर्जे ब्रिन द्वारा स्थापित किया गया था।  

 

2.गूगल का मूल उद्देश्य था उपयोगकर्ताओं को सटीक और व्यापक जानकारी प्रदान करना।

 

3.गूगल का मूल नाम “गूगोल” था, जो मैथमेटिक्स में एक असंतिष्ट प्रायिकता का नाम है। लेकिन बाद में इसे “गूगल” में बदल दिया गया।

 

4.गूगल का मास्कॉट “गूगल डूडल” है, जो खोज पेज के ऊपर प्रदर्शित होता है। और हम सबने अक्सर देखा है कई ख़ास अवसर पर ये अपना योगदान देता रहता है 

 

5.गूगल अपने कर्मचारियों को वेब पर 20% के आधार पर काम करने की अनुमति देता है, जिससे वे अपने नए  विचारों पर केन्द्रित हो सकते हैं।

 

6.गूगल ड्राइव वर्तमान में 240 मिलियन से अधिक लोगों द्वारा उपयोग हो रहा है।

 

7.गूगल के अलावा “गूगल्ड” भी एक टर्म है , जिसे यूज़र कई बार बोल चल की भाषा में प्रयोग करते हैं 

 

8.गूगल का मुख्यालय कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है।

 

9.गूगल ने 2004 में अपनी पहली उपभोक्ता साइट, जिसे गूगल न्यूज़ भी कहा जाता है, शुरू की।

 

10.गूगल मैप्स पर एक विशेषता है, जिससे आप गूगल पर वक्ता बनकर नेविगेशन कर सकते हैं।

 

11.गूगल का पहला अनुवादक उपकरण 2006 में लॉन्च किया गया था, जिसे “गूगल अनुवाद” कहा जाता है।

 

12. गूगल ने अपने वेब पर सबसे पहले “आपको भूल जाने वाले” बटन का उपयोग किया था, लेकिन बाद में उसे हटा दिया गया।

 

Google शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।

विभिन्न शिक्षाप्रदाताओं और संस्थाओं के लिए Google ने विभिन्न शिक्षा साधनों और प्लेटफॉर्मों को विकसित किया है जिनका उपयोग छात्रों को शिक्षा में मदद करने के लिए किया जा सकता है।

गूगल क्लास रूम (google classroom ) जैसे प्रमुख फ़ीचर शिक्षा के लिए एक बड़ा योगदान दे  रहे हैं ।

 

2017 गूगल ने वेब स्टोरीज़ को लॉंच किया था , जिसे लोग ख़ूब पसंद कर रहे हैं

गूगल स्टोरीज़ एक समय अवधि में हट जाती है, जिससे आपकी स्टोरी एक दिन के लिए ऐक्टिव  रहती है।

क्रिएटिव टूल्स: आप गूगल स्टोरीज़ में फ़िल्टर, स्टीकर्स, टेक्स्ट और अन्य क्रिएटिव टूल्स का उपयोग कर सकते हैं ताकि आप अपनी स्टोरी को और रंगीन और दिलचस्प बना सकें।

सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों के साथ साझा करें: गूगल स्टोरीज़ को आप अपने फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों पर साझा कर सकते हैं। इससे आप अपनी स्टोरी को अपने दोस्तों और परिवार के साथ साझा कर सकते हैं।

दृश्य प्रतिक्रिया: आप गूगल स्टोरीज़ के माध्यम से अपने दृश्य पर प्रतिक्रिया देख सकते हैं। इससे आपको पता चलता है कि आपकी स्टोरी कितनी पसंद की जाती है और उपयोगकर्ताओं ने इस पर किस प्रकार की प्रतिक्रिया दी है।

 गूगल स्टोरीज़ एक उपयोगकर्ता-स्वत: चलने वाली कहानी है जिसमें आप अपनी फ़ोटो, वीडियो और टेक्स्ट को साझा कर सकते हैं। आप अपनी स्टोरी में खुद को संबंधित और रंगीन बना सकते हैं।

 

स्वाइप अप: गूगल स्टोरीज़ में आप बाएं या दाएं स्वाइप करके अगली स्टोरी पर जा सकते हैं। यह आपको एक लगातार और निरंतर अनुभव प्रदान करता है।

 

निजीता और सुरक्षा: गूगल स्टोरीज़ की सुरक्षा परिस्थितियों का पालन करता है और आपकी निजी जानकारी को सुरक्षित रखता है।

 आप अपनी स्टोरी में स्थान टैग जोड़ सकते हैं, जिससे आपके पाठक आपकी स्टोरी को उस स्थान से संबंधित कर सकते हैं।

गूगल स्टोरीज़ की पहुंच : गूगल स्टोरीज़ को गूगल ऐप और वेब ब्राउज़र पर उपलब्ध कराया गया है, जिससे आप आसानी से अपनी स्टोरीज़ तक पहुंच सकते हैं।

 

Google सामाजिक सेवाओं के लिए भी उपयोगी है। गूगल ट्रांसलेट, गूगल फ़ॉर्म्स, और गूगल प्लेस जैसे उपकरण लोगों को अपनी भाषा, सरकारी फ़ॉर्म और स्थानीय व्यापारों के साथ संवाद करने में मदद करते हैं।

Google ने अपनी तकनीकी और सेवाओं के माध्यम से लोगों की जीवन में मदद करने के लिए कई पहल ली हैं।

इसके अलावा, Google.org जैसे सामाजिक संगठन ने अनेक उपयोगी परियोजनाओं का समर्थन किया है जो मानवता को आगे बढ़ाने के लिए बड़ा प्रयास   कर रहे हैं।

Leave a Comment