Phone Stolen: खोया मोबाइल कैसे वापिस पाएँ ?

Phone Stolen या फोन चोरी हो जाने पर सबसे पहले क्या करना चाहिए। फोन चोरी होना हमारे देश में एक आम समस्या बन गया है। बस, ट्रेन, मेट्रो और सबसे ज्यादा पब्लिक प्लेस में चोरी की घटना आम है।हम में से ज़्यादातर लोग फ़ोन चोरी होते ही ये बात समझ नहीं पाते आख़िर फ़ोन चोरी होते ही सबसे पहले क्या करें, और घबरा जाते हैं, आए दिन पूरे भारत में हर दिन ,Phone Stolen की कई शिकायतें आती हैं , देश के लिए ये एक बड़ी समस्या और ऐसे समय में सबसे पहले क्या करना चाहिए हम आपको सटीक जानकारी देंगे, 

कुछ रिपोर्टों के अनुसार, मुंबई में हर दिन करीब 134 स्मार्टफोन खो जाते हैं या चोरी हो जाते हैं। वहीं टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरु में हर दिन करीब 200 सेलफोन्स खोने या चोरी होने की सूचना दी जाती है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, साल 2021 में मुंबई में 48,856 मोबाइल फोन खो गए या चोरी हो गए। ये नंबर्स ज्यादा होनी की पूरी संभावना है क्योंकि बहुत से लोग फोन चोरी होने पर रिपोर्ट दर्ज नहीं कराते हैं।

आखिर क्या है CEIR ?

फोन चोरी या खोने जैसी बड़ी प्रॉब्लम से निजात पाने के लिए भारत सरकार ने एक हाई-टेक ट्रैकिंग सिस्टम शुरू किया है। बहुत सी मैट्रो सिटीज़ में ये सिस्टम वर्किंग है, वहीं दूसरे राज्यों में भी इस सिस्टम को expand किया जा रहा है। सेंटर फॉर डिपार्टमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (सीडीओटी), दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक और बहुत से राज्यों में CEIR का पायलट प्रोजेक्ट चला रहा है। Central Equipment Identity Register यानि CEIR नकली और क्लोन किए गए मोबाइल फोन से संबंधित जानकारी देकर यूजर्स को राहत देगा।

CEIR सिस्टम टेलिकॉम ऑपरेटरों को डिवाइस के IMEI नंबर और संबंधित मोबाइल नंबर दोनों तक एक्सेस देगा। अपराधियों के लिए चोरी हुए मोबाइल फोन के IMEI नंबर को modify करना आम बात है, जो मोबाइल फोन को ट्रैक करने और ब्लॉक करने में बाधा डालता है। फिर भी, CEIR सिस्टम कई डेटाबेस की मदद से क्लोन किए गए मोबाइल फोन को नेटवर्क पर इस्तेमाल होने से रोक सकता है।

हाल ही में, कर्नाटक पुलिस ने CEIR सिस्टम का प्रयोग करके करीब 2,500 से अधिक खोए हुए मोबाइल फोनों का रेस्क्यू किया है। हैदराबाद की सुमन शर्मा ने अपने फोन खोने की सूचना पुलिस को दी। CEIR सिस्टम की बदौलत सिर्फ 1 हफ्ते के अंदर इनको इनका स्मार्टफोन वापिस मिल गया। देश में शुरू किया गया ये नया पोर्टल तेलंगाना में पायलट प्रोजेक्ट तौर पर शुरू किया गया, जहां खोए या चोरी हुए मोबाइल फोन का पता लगाने में बेहद उपयोगी और कुशल साबित हो रहा है। देश में ब्लॉक किए गए 5.6 लाख फोन में से 2.6 लाख का पता लगा लिया गया है।

 

CEIR के फायदे

1. ये Phone Stolen  रोकने में मदद करता है।
2. ये उपभोक्ताओं के डेटा की सुरक्षा करता है।
3. ये खोए हुए या चोरी हुए मोबाइल फोन को रिकवर करने में मदद करता है।
4. ये क्लोन या नकली मोबाइल फोन के उपयोग को रोकने में मदद करता है।

 

कैसे करें CEIR पोर्टल में रिपोर्ट

CEIR प्रणाली का उपयोग करके भारत में खोए हुए या चोरी हुए मोबाइल फोन को ब्लॉक करने के तरीके यहां दिए गए हैं

1. सबसे पहले CEIR की वेबसाइट https://www.ceir.gov.in/Home/index-hindi.jsp पर जाएं। 
2.”Block Stolen/Lost Mobile”टैब पर क्लिक करें।
3. अपने खोए या चोरी हुए फ़ोन का IMEI नंबर दर्ज करें।
4. अपनी डिटेल्स दर्ज करें, जिसमें आपका नाम, ई-मेल पता और मोबाइल नंबर शामिल है।
5.Submit बटन पर क्लिक करें। phone stolen 
आपकी ऐप्लीकेशन पर कार्रवाई की जाएगी और आपका फोन 24 घंटे के भीतर ब्लॉक कर दिया जाएगा। आपको एक confirmation ई-मेल भी प्राप्त होगा।

आप Android phone se ‘नो योर मोबाइल ऐप’ के द्वारा भी रिपोर्ट दर्ज करा सकते हैं।  अगर आपको CEIR से जुड़ी कोई जानकारी चाहिए तो कमेंट बॉक्स पर जरूर लिखें। हम आपकी बेहतर सहायता करेंगे। 

जानकारी साँझा करें 

आप अपने मित्रों और रिश्तेदारों को जागरूक करें और इस अहम जानकारी को ज़्यादा से ज़्यादा share करें 

imei tracker online for lost mobile , how to track lost mobile with imei number, track phone using imei online free,ceir app download,ceir helpline number

Leave a Comment