Legally fly Drone in India : जानिए क्या हैं नियम और क़ानून

Drone in india : जानिए कैसे और कितना ऊँचा उड़ा सकते है 

नमस्ते दोस्तों! आज हम बात करेंगे भारत में ड्रोन के बारे में। ड्रोन एक तकनीकी उपकरण है जो विमान यातायात को आसान बनाता है और इसका उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में होता है। हालांकि, ड्रोन की मूल्य, नियम और बाजार के बारे में अधिकांश लोगों को जानकारी नहीं होती है। इसलिए, चलिए अब हम इसे विस्तार से जानते हैं।

परिचय 

ड्रोन एक रिमोट से नियंत्रित उपकरण होता है जो हवाई यातायात के लिए उपयोग किया जाता है। इसे आप एक नया दृष्टिकोण प्रदान करने वाला विमान कह सकते हैं। यह बढ़ते तकनीकी विकास के साथ-साथ भारत में भी बढ़ती हुई लोकप्रियता का भी श्रेय जाता है। ड्रोन के विभिन्न प्रयोगों में वीडियो निगरानी, फोटोग्राफी, सामाजिक उपयोग, वन्यजीव विज्ञान और वाणिज्यिक उपयोग शामिल हैं।

Drone in India , इसके प्रकार

ड्रोन विभिन्न प्रकार के होते हैं जो अलग-अलग उपयोगों के लिए बनाए जाते हैं। यहां हम कुछ मुख्य प्रकार की बात करेंगे:

Personal Drone

ये ड्रोन आमतौर पर शौकिया उपयोगकर्ताओं द्वारा उपयोग किए जाते हैं। इनमें स्मार्टफोन से नियंत्रण किया जा सकता है और वे आमतौर पर सुरक्षा सुनिश्चित करने, स्वच्छता के उदाहरण के लिए और विभिन्न उद्योगों में काम करने के लिए उपयोग होते हैं। जैसे Mini drone 

Mini Drone

Commercial Drone : ये ड्रोन व्यावसायिक क्षेत्रों में उपयोग होते हैं। उदाहरण के लिए, वाणिज्यिक ड्रोन को वित्तीय पक्षों के लिए, पत्रकारी के लिए ज्ञान संकलन के लिए और कृषि में समीक्षा के लिए उपयोग किया जाता है।

Government Drone: सरकारी संगठनों द्वारा उपयोग किए जाने वाले ड्रोन होते हैं। ये सुरक्षा, सीमावर्ती सुरक्षा, राष्ट्रीय सुरक्षा और आपदा प्रबंधन के लिए उपयोग होते हैं।

Price of Drone 

ड्रोन की मूल्य कई तत्वों पर निर्भर करती है, जैसे कि इसके आकार, दूरी, यात्रा करने की क्षमता, कैमरा का क्वालिटी, और बैटरी लाइफ। छोटे और साधारण ड्रोन की कीमत लगभग 5,000 रुपये से शुरू होती है, जबकि बड़े और पेशेवर ड्रोन की कीमत लाखों रुपये तक जा सकती है। इसलिए, आपके उपयोग के आधार पर उचित ड्रोन कीमत के बारे में विचार करें।

Drone in India : भारत में ड्रोन उड़ाने के नियम 

ड्रोन का उपयोग करने के लिए भारत में कुछ नियम और विनियम हैं जिनका पालन करना आवश्यक है। यदि आप ड्रोन का उपयोग करने की सोच रहे हैं, तो आपको यहां दिए गए कुछ महत्वपूर्ण नियमों को ध्यान से पढ़ना चाहिए:

  1. अनुमति प्राप्त करें: ड्रोन का उपयोग करने से पहले, आपको नगर निगम या स्थानीय प्रशासन से अनुमति प्राप्त करनी होगी।
  2. उच्चतम ऊँचाई सीमा: ड्रोन को एक निश्चित ऊँचाई सीमा के अंदर ही उड़ाने दिया जाता है। इस सीमा का पालन करें ताकि आपकी उड़ान सुरक्षित और कानूनी हो।
  3. संबंधित विनियमों का पालन करें: ड्रोन के उपयोग के लिए अन्य संबंधित नियमों और विनियमों का भी पालन करना आवश्यक होता है।

Drone in India 

भारत में ड्रोन का बाजार भी धीरे-धीरे विकसित हो रहा है। आजकल आप विभिन्न ब्रांडों के ड्रोन ऑनलाइन और ऑफलाइन दुकानों में खरीद सकते हैं। शुरुआती स्तर पर, कुछ लोकप्रिय ब्रांड्स जैसे DJI, पैरोट और यूपीएर ड्रोन्स आपके लिए उपयुक्त हो सकते हैं। इनके अलावा, भारत में अन्य स्थानीय उत्पादकों के भी ड्रोन उपलब्ध हैं।

 

 हमने भारत में ड्रोन के बारे में चर्चा की है, जिसमें उनकी मूल्य, नियम और बाजार पर बात की है। हमने विभिन्न प्रकार के ड्रोन के बारे में भी चर्चा की है, जो व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सरकारी उपयोग के लिए होते हैं। यदि आप ड्रोन का उपयोग करने की सोच रहे हैं, तो आपको यहां दिए गए नियमों का पालन करना चाहिए और उचित ड्रोन कीमत के बारे में सोचना चाहिए। भारत में ड्रोन का बाजार भी विकसित हो रहा है, और आप विभिन्न ब्रांडों के ड्रोन खरीद सकते हैं।

 

Drone with camera 

FPV  Drone  in India

drone price in india

दोस्तों, क्या आपने कभी FPV  ड्रोन के बारे में सुना है? यह वाकई मजेदार और रोचक है!

FPV का अर्थ होता है First Person View Drone 

इसका मतलब है कि जब आप एफपीवी ड्रोन को उड़ाते हैं,

तो आप उसके कैमरे के माध्यम से उसे वास्तविक समय में देखते हैं और महसूस करते हैं। यह वाकई विशेष  है!

जब आप एफपीवी ड्रोन को उड़ाते हैं, तो आप मानो उड़ान कर रहे होते हैं!

इसे उड़ाते वक़्त आपको ऐसा लगता है जैसे आप ख़ुद उड़ान भर रहे हैं , 

यह आपके लिए वास्तविकता का अनुभव प्रदान करता है और आप उस उच्चता से दृष्टि भरते हुए नई स्थानों की खोज कर सकते हैं।

इस उड़ान की क़ीमत थोड़ी महंगी है इसे आप लगभग INR 1.5 Lakh में ख़रीद सकते हैं 

 

 

Drone उड़ाने के क़ानून और नियम

एक माइक्रो ड्रोन 60 मीटर से ऊँचा  नहीं उड़ा  सकते  और 25 मीटर प्रति सेकंड से तेज नहीं हो सकता।

 

एक छोटा ड्रोन 120 मीटर से ऊँचा नहीं उड़ा  सकते और 25 मीटर प्रति सेकंड से तेज नहीं हो सकता।

 

मध्यम या बड़े आकार के Drone  को DGCA की ऑपरेटर परमिट में बताए गए शर्तों के अनुरूप उड़ान करनी चाहिए।

 

प्रतिबंधित क्षेत्रों का पूरी तरह से प्रवेश वर्जित है, जबकि प्रतिबंधित क्षेत्रों में DGCA की पूर्व मंजूरी की आवश्यकता होती है।

 

अत्यंत जरूरी है कि ड्रोन उड़ान करने के लिए ये प्रतिबंधिताएं स्वीकार की जाएं और इनका पालन किया जाए। यदि कोई ड्रोन इन प्रतिबंधित क्षेत्रों में या विपणन अनुमति के बिना उड़ाए जाता है,

तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

 

Drone fly in India , Important Points 

इसके अलावा, ड्रोन उड़ाते समय निम्नलिखित सावधानियों का भी पालन करना चाहिए:

  1. ड्रोन केवल डेड जोन में उड़ाने चाहिए। विमान-पट्टिका, हवाई अड्डा और सैन्य क्षेत्रों के आसपास ड्रोन उड़ाने से बचें।
  2. ड्रोन को सुरक्षा संबंधी नियमों के अनुरूप उड़ाने चाहिए। यहां तक कि ड्रोन को विमान-पट्टिका के ऊपर विशेष ध्यान देना चाहिए ताकि किसी भी हादसे की संभावना से बचा जा सके।
  3. ड्रोन उड़ाते समय लोगों और संपत्ति की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखना चाहिए। किसी भी अनुकूलता के मामले में, उड़ान को तुरंत रोक देना चाहिए।

 

 

भारत में Drone उड़ान करने के नियमों का पालन करना आवश्यक है ताकि हम सुरक्षित और  तरीके से इन्हें उड़ा सकें।

इसके अलावा, आपको अनुमति के लिए संबंधित अधिकारी से पूर्वानुमति प्राप्त करनी चाहिए जब आप किसी विडीओ को बनाने के लिए  या किसी कार्यक्रम के दृश्यों को शूट करने के लिए   ड्रोन का उपयोग करना चाहते हैं।

इसलिए, जब आप ड्रोन का उपयोग करने का संकल्प बनाएं,

तो इसे समझें और ड्रोन उड़ान करने के लिए भारत में स्थापित नियमों का पालन करें।

सुरक्षित उड़ान का आनंद लें और ड्रोन की संभावित सीमाओं को ध्यान में रखते हुए इस नई तकनीक का लाभ उठाएं।

 

FAQs,  Drone Flying in India 

 

भारत में ड्रोन को उड़ाने के लिए अनुमति की आवश्यकता होती है?

हाँ, भारत में ड्रोन को उड़ाने के लिए अनुमति की आवश्यकता होती है। ड्रोन को दिग्गज विमानन निगम (Directorate General of Civil Aviation, DGCA) से पंजीकृत करना होगा।

 

ड्रोन को किस वयस्कता वर्ग में पंजीकृत करना होगा?

भारतीय कानून के अनुसार, ड्रोन को किसी भी वयस्कता वर्ग (18 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्ति) में पंजीकृत करना होगा।

 

ड्रोन को कहाँ उड़ाने की अनुमति होती है?

ड्रोन को भारत में नियमित और अनियमित विमानन निर्देशिका (Civil Aviation Requirements, CAR) के अनुसार निर्धारित विमानन क्षेत्रों में ही उड़ाने की अनुमति होती है।

 

ड्रोन को किस स्तर की उचाई पर उड़ाया जा सकता है?

भारत में, सामान्यतः ड्रोन को न्यूनतम 50 फीट (15 मीटर) और अधिकतम 400 फीट (120 मीटर) की ऊचाई पर उड़ाया जा सकता है। यह ऊचाई स्थानीय प्राधिकारियों द्वारा निर्धारित की जाती है और विशेष प्राधिकारी की मंजूरी के बिना उड़ाया नहीं जा सकता है।

 

क्या ड्रोन को रात्रि में उड़ाया जा सकता है?

भारत में ड्रोन को रात्रि में उड़ाने की अनुमति नहीं होती है। अनुमति दिन के समय विमानन क्षेत्रों में ही दी जाती है।

 

क्या ड्रोन को संबंधित प्राधिकारी को सूचित करना आवश्यक होता है?

हाँ, ड्रोन को संबंधित प्राधिकारी को सूचित करना आवश्यक होता है। ड्रोन के उड़ान के पहले और उड़ान के दौरान संबंधित अधिकारी को सूचित किया जाना चाहिए।

 

Leave a Comment