सावन 2023: पाठ, नियम और उपायों से मिलेगी महादेव की ‘महाकृपा’ !

सावन 2023: इस साल सावन में आपको भगवान शिव की पूजा, उपासना और कृपा का ज्यादा फल मिलेगा क्योंकि इस बार सावन 2 महीने के हैं। अधिक मास की वजह से सावन पूरे 59 दिनों के हैं। इस सावन आपको कौन से पाठ, नियम और उपायों से मिलेगी महादेव की ‘महाकृपा’। आइए जानते हैं….

सावन 2023: इन 8 नियमों को ना करें नज़रअंदाज़ !

भगवान शिव को तो भोलेनाथ कहा जाता है। इनकी पूजा में की गई गलती भगवान तुरंत माफ कर देते हैं लेकिन जानबूझकर की गई गलती का असर आपकी पूजा पर पड़ सकता है। भगवान शिव की पूजा बहुत सी आसान और असरदार होती है। बावजूद इसके बहुत से भक्तगण भोलेनाथ की पूजा में कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं जिसका परिणाम बहुत ही खराब होता है। इसीलिए आज हम आपको जो 8 नियम बताएंगे उसका अनुसरण आपको ज़रूर करना चाहिए।

1. शिवलिंग पर भूलकर भी आपको हल्दी कभी भी नहीं चढ़ानी चाहिए। मान्यता है कि भगवान शिव को हल्दी चढ़ाने से वह जल्द रुष्ट हो जाते हैं और पूजा का पूर्ण नहीं मिलता है।

2. शिवलिंग पर केतकी का फूल भी अर्पित नहीं करना चाहिए। केतकी के फूल को भगवान शिव ने त्याग दिया था। शिव जी को किसी भी लाल रंग के फूल और केवड़े के फूल नहीं चढ़ाने चाहिए।

3. शिवलिंग पर नारियल पानी भी नहीं चढ़ाना चाहिए लेकिन नारियल चढ़ा सकते हैं। 

4.  शास्त्रों के अनुसार, शिव जी की पूजा में कुमकुम और रोली का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसलिए शिवलिंग पर कभी भी रोली नहीं चढ़ानी चाहिए। 

5. शिवलिंग पर भूलकर भी शंख से जल अर्पित नहीं करना चाहिए। ऐसा करना बहुत गलत होता है। इससे आपको पूजा का कोई फल नहीं मिलेगा। 

6. शिवलिंग पर कभी भी तुलसी अर्पित नहीं करनी चाहिए।

7. शिवलिंग पर खंडित चावल अर्पित नहीं करने चाहिए।  

8. शिवलिंग पर शाम के समय जल अर्पित नहीं करना चाहिए। वैसे तो मंदिर में स्थित शिवलिंग पर 24 घंटे जल की धारा पड़ती है लेकिन शाम के समय अपने हाथों से जल अभिषेक नहीं करना चाहिए। शिवलिंग पर सुबह के समय जल अर्पित करना चाहिए। 

सावन 2023: शिवलिंग पर क्या चढ़ाएं ?

1. सावन में शिवलिंग पर सुबह के समय जल, दूध और बेलपत्र अर्पित करना चाहिए। 

2. सावन में शिवलिंग पर चीनी मिला हुआ दूध अर्पित करना चाहिए। इससे चंद्र ग्रह की विशेष कृपा मिलती है। 

3. सावन में शिवलिंग में भांग, धतूरा और राख अर्पित करनी चाहिए। 

4. सावन में अगर आपको महादेव की विशेष कृपा चाहिए तो आपको शिवलिंग पर गन्ने के रस से रुद्राभिषेक करना चाहिए। 

5. सावन में महादेव की कृपा से अच्छी सेहत पाने के लिए शिवलिंग पर शहद अर्पित करना चाहिए। 

6. घर से हर प्रकार के वास्तुदोष को दूर करने के लिए सावन में शिवलिंग का पंचामृत से अभिषेक करें। पंचामृत 5 चीज़ों (दूध, दही, घी, शहद, शक्कर) से मिलकर बनता है। 

सावन 2023: एक पाठ दूर करेगा संकट और टालेगा अनहोनी 

सावन में महामृत्युंजय मंत्र 'ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्‌। 
उर्वारुकमिव बन्धनांन्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात' बेहद चमत्कारी मंत्र है। 
कष्ट या संकट के समय में इसका जाप कभी भी किया जा सकता है। 
शिव जी तस्वीर या शिवलिंग के सामने इस मंत्र का जाप ज़रूर करना चाहिए। 
सावन में इस मंत्र का जाप रुद्राक्ष की माला से करेंगे तो इसका कईं गुना फल मिलेगा। 
जप करते समय जल में दूध मिलाकर शिव जी का अभिषेक करते रहें
महामृत्युंजय मंत्र जपना हो तो जाप में उच्चारण की शुद्धता रखें। 
महामृत्युंजय मंत्र के सभी उपाय पूर्व दिशा की तरफ मुंह करके ही करें। 
जप करते समय ध्यान पूरी तरह मंत्र में ही रहना चाहिए। 
मन को इधर-उधर न भटकाएं और जप करते समय आलस को ना आने दें

 

Leave a Comment